यूरोपीय संघ (EU) - सत्ता का वैकल्पिक केन्द्र

अंतर्राष्ट्रीय संगठन - यूरोपीय यूनियन - एक नजर में संपूर्ण जानकारी

• यूरोपीय संघ का गठन कब हुआ ?

यूरोपीय संघ की स्थापना - 1993

1 जनवरी 1958 को यूरोप के 'इनर सिक्स' कहे जाने वाले 6 देशों (फ्रांस, नीदरलैंड, जर्मनी, इटली, बेल्जियम, लक्जमबर्ग) द्वारा रोम की संधि के माध्यम से यूरोपीय आर्थिक समुदाय की स्थापना की गई। ब्रिटेन ने यूरोपीय समुदाय में 1973 में सदस्यता ग्रहण की थी।

 1979 में यूरोपीय संसद के गठन के बाद यूरोपीय आर्थिक समुदाय ने आर्थिक की जगह राजनैतिक रूप ले लिया।

यूरोपीय यूनियन का अपना कोई संविधान नहीं है। अपना झंडा, गान, स्थापना दिवस और मुद्रा है।

1992-93 में 12 यूरोपीय देशों ने मास्ट्रिच संधि पर हस्ताक्षर करके यूरोपीय यूनियन को वास्तविक स्वरूप प्रदान किया। यूरोपीय संघ की स्थापना के समय अमेरिका के 42 वें राष्ट्रपति बिल क्लिंटन (1993-2001) थे।

* मास्ट्रिच संधि 1991 - एकल यूरोप नागरिकता

* मार्शल योजना 1948 - मार्शल योजना के तहत यूरोपीय आर्थिक सहयोग संगठन की स्थापना हुई। मार्शल योजना अमेरिका द्वारा यूरोप की अर्थव्यवस्था के पुनर्गठन के लिए मदद थी जिसके द्वारा पश्चिमी यूरोप के देशों को आर्थिक मदद दी गई।

• यूरोपीय संघ के गठन के कारण क्या थे ?

यूरोपीय संघ के गठन का उद्देश्य सदस्य देशों की आर्थिक और सामाजिक संसक्ति को मजबूत करना तथा आर्थिक और मौद्रिक संघ (एकल मुद्रा प्रावधान वाला) की स्थापना करना।

सदस्य देशों की साझा विदेश और सुरक्षा नीति का क्रियान्वयन करना और संघ के लिये सामूहिक नागरिकता की व्यवस्था करना। न्यायिक एवं आंतरिक विषयों में घनिष्ठ सहयोग विकसित करना आदि प्रमुख हैं।

यूरोपीय संघ (EU) - सत्ता का वैकल्पिक केन्द्र

• यूरोपीय परिषद (European Council) के वर्तमान अध्यक्ष कौन हैं ?

👉 बेल्जियम के पूर्व प्रधानमंत्री चार्ल्स मिशेल हैं।

• वर्तमान में यूरोपीय संघ में कितने सदस्य हैं

👉 वर्तमान (2021 तक) में कुल सदस्य संख्या - 27

👉 1992 में स्थापना के समय 12 सदस्य देश

 👉 1986 में स्पेन, पुर्तगाल शामिल हुए

 👉 2004 में सोवियत खेमे के 10 देश (साइप्रस, चेक गणराज्य, एस्तोनिया, हंगरी, लताविया, लिथुआनिया, माल्टा, पोलैंड, स्लोवाकिया, स्लोवेनिया) शामिल हुए।

 👉 2007 में बुल्गारिया, रोमानिया शामिल हुए

 👉 2013 में क्रोएशिया शामिल हुआ

 👉 23 जून 2016 को ब्रिटेन में जनमत संग्रह (ब्रेक्जिट) में 51.9 % मतदाताओं ने यूरोपीय संघ छोड़ने के समर्थन में मत किया। 31 जनवरी 2020 में ब्रेक्जिट को लागू करते हुए प्रधानमंत्री बोरीस जॉनसन ने ब्रिटेन को यूरोपीय यूनियन से अलग होने की घोषणा की। अतः अब ब्रिटेन 31 जनवरी 2020 मध्यरात्रि से यूरोपीय संघ का सदस्य नहीं रहा।

👉 यूरोपीय संघ के 2 सदस्य देश ब्रिटेन और फ्रांस संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद के स्थाई सदस्य हैं। इन्हीं दोनों के पास परमाणु हथियार है।

👉 एस्टोनिया, लताविया और लिथुआनिया जो पहले वारसा संधि के सदस्य थे, अब यूरोपीय यूनियन (2004 से) के सदस्य हैं।

• यूरोपीय यूनियन का मुख्यालय कहां है ?

👉 ब्रुसेल्स (बेल्जियम)

• यूरोपीय संघ के सदस्यों की मुद्रा क्या है

यूरोपीय संघ के सदस्य देशों की आधिकारिक मुद्रा यूरो है। 27 में से 19 सदस्य देशों में ही यूरोजोन (आधिकारिक मुद्रा) का प्रचलन है। 

1 जनवरी 1994 को स्वतंत्र यूरोपीय मुद्रा संस्थान की स्थापना हुई। यूरो के चलन तथा संचालन पर नियंत्रण हेतु 1998 में फ्रैंकफर्ट (जर्मनी) में यूरोपीय सेंट्रल बैंक की स्थापना हुई।

 1 जनवरी 2002 से यूरो का चलन शुरू हुआ। यूरो-15 यूरो जोन की मुद्रा है।

1999 में यूरोपीय संघ के 11 सदस्य देशों (ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, आयरलैंड, इटली, लक्जमबर्ग, नीदरलैंड्स, पुर्तगाल व स्पेन) के द्वारा इसे आधिकारिक मुद्रा के रूप में अपना लिया था।

 यूरो मुद्रा का चिन्ह -

  बैंक कोड - EUR

• यूरोपीय संघ का झंडा

यूरोपीय संघ के प्रतीक यूरोपीय झंडा निले रंग की पृष्ठभूमि में सोने के रंग के 12 सितारों का घेरा जो यूरोप के लोगों की एकता और मेल मिलाप का प्रतीक है।

• यूरोपीय संघ का आधिकारिक गान (Official Anthem)

1972 में यूरोप की परिषद ने बीथोवेन की "ओड टू जॉय" थीम को इसके गान के रूप में अपनाया। 1985 में इसे यूरोपीय संघ के आधिकारिक गान के रूप में यूरोपीय संघ के नेताओं द्वारा अपनाया गया था।

• यूरोपीय संघ के संगठन

1. यूरोपीय कमीशन - मुख्यालय - ब्रुसेल्स

2. यूरोपीयन संसद - मुख्यालय - ब्रुसेल्स

3. द कॉर्ट ऑफ जस्टिस, ऑफ द यूरोपीयन कम्यूनिटीज - मुख्यालय - लक्जमबर्ग

4. द यूरोपीयन कॉर्ट ऑफ ऑर्डिनेंस - मुख्यालय - लक्जमबर्ग

• यूरोपीय संघ का वर्चस्व के कारण

* यूरोपीय संघ का आर्थिक, राजनैतिक, कूटनीतिक तथा सैनिक प्रभाव बहुत अच्छा है।

* यूरोपीय संघ 2005 में विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था था।

* यूरो मुद्रा अमरीकी डॉलर के प्रभुत्व लिए खतरा बन सकती है।

* यूरोपीय यूनियन की विश्व व्यापार में अमेरिका से 3 गुना ज्यादा हिस्सेदारी है।

* यूरोपीय यूनियन के दो सदस्य देश ब्रिटेन और फ्रांस संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद में स्थाई सदस्य हैं।

* ईरान के परमाणु कार्यक्रम से संबंधित अमेरिकी नीतियों को प्रभावित करना।

* चीन के साथ मानवाधिकार उल्लंघन और पर्यावरण विनाश पर कूटनीतिक आर्थिक निवेश और बातचीत की नीति ज्यादा प्रभावी।

* यूरोपीय यूनियन के पास दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सेना है। रक्षा बजट अमेरिका से भी ज्यादा है।

* यूरोपीय संघ के देश संचार प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष विज्ञान मामले में दुनिया में दूसरा स्थान।

• यूरोपिय संघ के वर्चस्व में अवरोध के कारण

* सदस्य देशों की अपनी विदेश और रक्षा नीति जो कई बार एक-दूसरे के खिलाफ है। जैसे इराक पर अमेरिकी हमले में ब्रिटेन साथ था परंतु जर्मनी, फ्रांस खिलाफ थे।

* संघ के नए सदस्य देश अमेरिकी गठबंधन से भी जुड़े हुए हैं।

* संघ के कुछ सदस्यों ने एकीकृत मुद्रा यूरो को नहीं अपनाया है।

* डेनमार्क और स्वीडन ने मास्ट्रिच और यूरो को मानने का प्रतिरोध किया।

यह भी पढ़ें - दक्षिणी एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क)

यह भी पढ़ें - गुट निरपेक्ष आंदोलन (NAM)

यह भी पढ़ें - बोलिवेरियन अल्टरनेटिव फॉर द अमेरिका [ALBA, अल्बा]

• शांगेन वीजा क्या है ?

1985 में एक संधि पर हस्ताक्षर हुए जिसमें लोगों को सिर्फ एक देश का वीजा लेना होगा और यूरोपीय यूनियन में शामिल सभी देशों में जा सकेंगे।